HomeHindi Song Lyrics

Agar Hum Kahen Aur Woh Muskura De Lyrics

Like Tweet Pin it Share Share Email

presenting you Agar Hum Kahen Aur Woh Muskura De Lyrics was sung by Jagjit Singh and written by Sudarshan Fakir. The music of this song was composed by Jagjit Singh.

Agar Hum Kahen Aur Woh Muskura De Lyrics
Song Agar Hum Kahen Aur Woh Muskura De
Singer Jagjit Singh
Music Jagjit Singh
Lyrics Sudarshan Fakir

Agar Hum Kahen Aur Woh Muskura De Lyrics

अगर हम कहे और वो मुस्कुरा दे
अगर हम कहे और वो मुस्कुरा दे
हम उनके लिए जिंदगानी लुटा दे

हर एक मोड़ पर हम गमो को सजा दे
हर एक मोड़ पर हम गमो को सजा दे
चलो ज़िन्दगी को मोहब्बत बना दे
हर एक मोड़ पर हम गमो को सजा दे

अगर खुद को भूले तो कुछ भी ना भूले
अगर खुद को भूले तो कुछ भी ना भूले
के चाहत में उनकी खुदा को भुला दे
अगर हम कहे और वो मुस्कुरा दे

कभी गम की आंधी जिन्हें छू ना पाए
कभी गम की आंधी जिन्हें छू ना पाए
वफाओं के वो हम नशेमन बना दे
हर एक मोड़ पर हम गमो को सजा दे

क़यामत के दिवाने कहते है हमसे
क़यामत के दिवाने कहते है हमसे
चलो उनके चेहरे से पर्दा हटा दे
अगर हम कहे और वो मुस्कुरा दे

सजा दे, सिला दे, बना दे, मिटा दे
सजा दे, सिला दे, बना दे, मिटा दे
मगर वो कोई फैसला तो सुना दे

हर एक मोड़ पर हम गमो को सजा दे
चलो ज़िन्दगी को मोहब्बत बना दे

अगर हम कहे और वो मुस्कुरा दे
हम उनके लिए जिंदगानी लुटा दे

चलो ज़िन्दगी को मोहब्बत बना दे
अगर हम कहे और वो मुस्कुरा दे

चलो ज़िन्दगी को मोहब्बत बना दे
अगर हम कहे और वो मुस्कुरा दे

This is the end of Agar Hum Kahen Aur Woh Muskura De Lyrics so i hope you guys like this song very much.