HomeAlbum

Teri Duniya Mere Rabba Lyrics – Trending ( Hit ) Song

Like Tweet Pin it Share Share Email

Kahin Deep Jalay is a superhit serial track that was both sung & music by Sahir Ali Bagga. Teri Duniya Mere Rabba Lyrics was written by Sahir Ali Bagga & M. Mujtaba, presented label – HAR PAL GEO.

Teri Duniya Mere Rabba Lyrics

SongTeri Duniya Mere Rabba Lyrics
SingerSahir Ali Bagga
MusicSahir Ali Bagga
LyricsSahir Ali Bagga & M. Mujtaba
DramaKahin Deep Jalay
LabelHAR PAL GEO

Teri Duniya Mere Rabba Lyrics

Rabba Ve….
Rabba Ve….

Teri Duniya Mere Rabba
Kyun Mujhe Hi Raas Nahi
Dil Toota Koi Jhooree
Rahi Koi Aass Nahi

Zakham Phele Miten Naa
Aa Kay Or Dete Hain
Maano Jin Ko Saharaa
Wohi Choor Dete Hain

Meri Taqdeeron Mein Likhya
Molaa! Toh Hi Morr Dey
Merey Naseebon Ki Utri
Rida! Tu He Oorh De

Meri Taqdeeron Mein Likhya
Mola! Toh Hi Morr De
Mere Naseebon Ki Utri
Rida! Tu Hi Oorh De

Hole Dill Hawa Aisa
Dard Ki Lehar Jaisa
Jiska Na ilaaj Koi
Dard Yeh Zehar Jesa

Khaalipan Yun Utra Hai
Ban Kay ek Kahr Jesa
Mere Is andhere Mein
Koi Na Shar Jaisa

De Na Koi Dilasa
Gum Pe Gor Dete Hain
Mano Jisko Sahara
Wohi Chor Dete Hain

Meri Taqdeeron Mein Likhya
Mola! Toh Hi Morr De
Mere Naseebon Ki Utri
Rida! Tu Hi Oorh De

Meri Taqdeeron Mein Likhya
Mola! Toh Hi Morr De
Mere Naseebon Ki Utri
Rida! Tu He Oorh De

Dastak Bina Aaye
Gum Bhi Ajeeb Hain
Jaante Nahi Hain Inko
Phir Bhi Kyun Naseeb Hain

Hath Jisne Thama Tha
Wohi Na Howe Apnay
Haal Tohi Jaane Rabba
Tuhi to qareeb Hai

Tujko Hi Ab Kahun Bas
Dukh Ye or Dete Hain
Maano Jinko Sahara
Wohi Chor Dete Hain

Meri Taqdeeron Mein Likhya
Mola! Toh Hi Morr De
Mere Naseebon Ki Utri
Rida! Tu Hi Oorh Dey

Pyar Jo Mila Mujhe Ko
Jeene Ka Bahana Tha
Kya Pata Tha Jaan Lele Ga
Dil Mera Nishana Tha

Dard Tha Naseeb Mein
Dard Ko Nibhana Tha
Aag Ke Samandar Main
Dob Ke Hi Jana Tha

Zakham Phele Mite Na
Aake or Dete Hain
Maano Jinko Sahara
Wohi Chor Dete Hain

Meri Taqdeeron Mein Likhya
Mola! Toh Hi Morr De
Mere Naseebon Ki Utri
Rida! Tu Hi Oorh De

Merii Taqdeeron Mein Likhya
Mola! Toh Hi Morr De
Mere Naseebon Ki Utri
Rida! Tu Hi Oorh Dey

Kahin Deep Jalay Lyrics – Sahir Ali Bagga

रब्बा वे…
रब्बा वे…

तेरी दुनिया मेरे रब्बा
क्यूँ मुझे ही रास नहीं
दिल टुटा कोई जोड़े
रही कोई आस नहीं

जख्म पहले मिटे ना
आके और देते है
मानो जिनको सहारा
वही छोड़ देते है

मेरी तकदीरो में लिखेया
मौला तुही मोड़ दे
मेरे नसीबो की उतरी
रीदा तुही ओर दे

मेरी तकदीरो में लिखेया
मौला तुही मोड़ दे
मेरे नसीबो की उतरी
रीदा तुही ओर दे

हाल-ए-दिल हुआ ऐसा
दर्द की लहर जैसा
जिसका ना इलाज कोई
दर्द ये ज़हर जैसा

खालीपन यूँ उतरा है
बनके एक कहर जैसा
मेरे इस अँधेरे में
कोई ना सहर जैसा

देना कोई दिलासा
गम पे गौर देते है
मानो जिनको सहारा
वही छोड़ देते है

मेरी तकदीरो में लिखेया
मौला तुही मोड़ दे
मेरे नसीबो की उतरी
रीदा तुही ओर दे

मेरी तकदीरो में लिखेया
मौला तुही मोड़ दे
मेरे नसीबो की उतरी
रीदा तुही ओर दे

दस्तक बिना आये
गम भी अजीब है
जानते नहीं है इनको
फिर भी क्यूँ नसीब है

हाथ जिसने थामा था
वो ही ना हुए अपने
हाल तू ही जाने रब्बा
तू ही तो करीब है

तुझको ही अब कहू बस
दुःख ये गोर देते है
मानो जिनको सहारा
वही छोड़ देते है

मेरी तकदीरो में लिखेया
मौला तुही मोड़ दे
मेरे नसीबो की उतरी
रीदा तुही ओड दे

प्यार जो मिला मुझको
जीने का बहाना था
क्या पता था जान लेलेगा
दिल मेरा निशाना था

दर्द था नसीब में
दर्द को निभाना था
आग के समन्दर में
डूब के ही जाना था

जख्म पहले मिटे ना
आके और देते है
मानो जिनको सहारा
वही छोड़ देते है

मेरी तकदीरो में लिखेया
मौला तुही मोड़ दे
मेरे नसीबो की उतरी
रीदा तुही ओड दे

मेरी तकदीरो में लिखेया
मौला तुही मोड़ दे
मेरे नसीबो की उतरी
रीदा तुही ओड दे

Kahin Deep Jalay Video

Comments (0)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

x